गोपालगंज

कुचायकोट प्रखंण्ड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दवाओं के दुरुपयोगता का खेल

कुचायकोट प्रखंण्ड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दवाओं के दुरुपयोगता का खेल

न्यूज़ 9 टाइम्स: गोपालगंज कुचायकोट से दीपक दूबे की रिपोर्ट:-

गोपालगंज कुचायकोट प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के पीछे बड़े पैमाने पर अस्पताल की दवाओं को जलाने और फेक दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है ।हॉस्पिटल के पिछले हिस्से में बड़े पैमाने पर नष्ट किए गए दवाओ ने स्वास्थ्य विभाग की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर दिए हैं ।

कूड़े के ढेर पर फेंककर जलाए गए इन दवाओं को लेकर प्रखंड के तमाम लोगों की दिनभर उत्सुकता बनी रही और तमाम लोग मौके पर पहुंच फेके गए दबाव को देखते पाए गए ।हालांकि इस बारे में कोई भी जवाबदेह कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है कि जलाए गए और फेंकी गई दवा कैसी है।

फेंके गए दवाओं में एंटीबायोटिक, एंटी एलर्जी सिरप और कई तरह की टेबलेट आवर इंजेक्शन शामिल है ।तमाम लोगों को यह शिकायत रहती है कि इलाज के दौरान उन्हें अस्पताल से दवाई नहीं दी जाती। इन सब के बीच बड़े पैमाने पर दवाओं का नष्ट किया जाना विभाग के कार्य शैली पर प्रश्नचिन्ह लगाता है ।

विदित हो कि मंगलवार की सुबह कुछ लोगों ने अधजले सिरप , टेबलेट और इंजेक्शन के साथ भारी मात्रा में नष्ट किए गए दवाओं को हॉस्पिटल के पीछे कूड़े के ढेर पर पाया। इस बात की जानकारी धीरे-धीरे बाजार वासियों को हुई ।तो कौतूहल बस तमाम लोग मौके पर पहुंचे ।फेंके और जलाए गए दवाओं को नष्ट करने का प्रयास कर्मियों द्वारा किया गया था। पर अभी भी मौके पर तमाम दवाएं अधजले हालत में मौजूद है।

इस बारे में कुचायकोट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित स्वास्थ्य प्रबंधक अजीत कुमार से जब बात की गई तो उनका कहना था कि अभी उन लोगों को इस तरह की किसी दवा के फेंके जाने के बारे में जानकारी नहीं है ।और पूरे मामले की जानकारी ली जा रही है ।घटना की जानकारी लेने के बाद ही उन्होंने कुछ बता सकने की बात कही।

Related Articles

x

COVID-19

India
Confirmed: 719,664Deaths: 20,159
Close