पश्चिम चंपारण

सरकार की वादा खिलाफी के कारण आक्रोशित है,आशा कर्मी होली जैसा त्यौहार रहा फीका : ओम प्रकाश क्रांति

सरकार की वादा खिलाफी के कारण आक्रोशित है,आशा कर्मी होली जैसा त्यौहार रहा फीका : ओम प्रकाश क्रांति  

न्यूज़ 9 : बेतिया से रवि कुमार मिश्रा की रिपोर्टः बिहार राज्य आशा संघ की बैठक पश्चिम चंपारण जिला बेतिया मे इमली चौक इस्थित बलिराम भवन में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता रेनू देवी ने की। वहींआशा संघ के संरक्षक ओम प्रकाश क्रांति ने कहा कि सरकार की वादाखिलाफी का मुद्दों को लेकर बैठक का आयोजन किया गया हैं। विगत दिनों की हड़ताल में हुए समझौते मे सरकार के द्वारा आशा को 2 हजार रुपया प्रतिमाह मानदेय देने की घोषणा की गई, परंतु इस आशय का कोई भी पत्र अभी तक नहीं आया है, वहीं पश्चिम चंपारण के लिए अलग से ₹2000 देने हैं तथा पेंशन योजना लागू करने की भी घोषणा की गई। जिस संबंध में अभी तक स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोई कार्यवाही नहीं की गई है। जबकि इस आशय का सरकारी पत्र विभाग को प्राप्त हो चुका है। आशा को मिलने वाला प्रोत्साहन राशि भी बकाया है। जिसका भुगतान नहीं होने से आशा का होली जैसा त्यौहार फीका रहा।सभी आशा कर्मी सरकार की वादाखिलाफी के कारण आक्रोशित है तथा लोकसभा चुनाव में सरकार को सबक सिखाने का मन बना चुकी है। सुनने में आ रहा है कि कुछ दलाल आशा का सर्विस बुक खुलवाने के नाम पर सीधी साधी आशा से रुपया ऐठना भी शुरू कर दिए हैं। जो सरासर गलत एवं अवैध है। इस संदर्भ में सरकार की तरफ से अभी तक कोई गाइडलाइन प्राप्त नहीं हुआ है। बिहार राज्य आशा संघ चुनाव आचार संहिता समाप्ति के बाद मुद्दों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन करेगी। 1 मई 2019 को धूमधाम से मजदूर दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है।आयोजित बैठक में संघ के संरक्षक ओम प्रकाश कांति, संध्या देवी, लक्ष्मीना देवी, सुंदरम मिश्रा, अनीता देवी, साधना देवी, आलिया खातून, सीमा देवी, उमा देवी, कुमकुम देवी, जेबुन्निसा, शशी शुक्ला, परशुराम ठाकुर, दुखी राय, सुनील कुमार, ध्रुव प्रसाद शास्त्री आदि सहित कई उपस्थित रहे।

Related Articles

Close