Breaking Newsstudentडेली शेयरपश्चिम चंपारण

बिहार विश्व विधालय के द्वारा मेरिट लिस्ट के लिए लिए जा रहे 600 रूपया के खिलाफ अभाविप ने दिया ज्ञापन

न्यूज9 टाइम्स बेतिया से #मोहित_कुमार की रिपोर्ट :-

आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, बिहार के प्रांत सह मंत्री एवम बिहार विश्विद्यालय, मुजफ्फरपुर के छात्र नेता रौशन कुमार ने बताया कि सत्र 2020- 23 स्नातक पार्ट वन में नामांकन के लिए आवेदन शुल्क बिहार विश्वविद्यालय द्वारा ₹600 मांगा जा रहा है यह सूचना उनको विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से मिला।उन्होंने बताया कि बिहार विश्विद्यालय स्नातक में नामांकन के लिये परीक्षा नही ले रहे है नबंर के आधार पर मेरिट लिस्ट बना रहा है फिर भी समझ नही आ रहा है कि मेरिट लिस्ट बनाने में उसे 600 रुपया का खर्च कहा आ रहा जबकि उन्हें छात्रों का बस डाटा स्टोर कर के मेरिट लिस्ट बनाना है।बिहार विश्विद्यालय सबके सामने करोड़ो का घोटाला कर रहा है लेकिन विद्यार्थी परिषद ऐसा नही होने देगी। रौशन कुमार ने बताया कि उन्होंने इस मामले में बिहार विश्विद्यालय के रजिस्ट्रार तथा कुलपति दोनो से बात कर के आग्रह किया कि स्नातक के आवेदन का शुल्क को आधा लिया जाए जिसपर विश्विद्यालय के दोनो पदाधिकारी ने कहा कि वे इस पर कल कोई निर्णय लेंगे। रौशन कुमार ने विश्वास जताया है कि फैसला छात्र-हित मे होगा ऐसा उम्मीद है।इस अवसर पर जिला संयोजक सुजित मिश्रा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अंशु सिंह राजपूत,चन्दन सैनी,अभय कुशवाहा, तथा प्रशांत मौर्य ने कहा कि बेतिया से ही गांधी जी ने निलहों के खिलाफ आंदोलन करके देश को आजादी दिलाई थी वैसे ही इसी बेतिया की धरती से बिहार विश्विद्यालय के छात्रों ने विरोधी रवैया के खिलाफ मुहिम की शुरुआत की है और हमें विश्वास है कि हम छात्रों को न्याय दिलाने में सफल होंगे।

Related Articles

x

COVID-19

India
Confirmed: 7,761,312Deaths: 117,306
Close