Breaking Newsstudentडेली शेयरपश्चिम चंपारण

जिला शिक्षा अधिकारी के सख्त निर्देश के बावजूद धड़ल्ले से संचालित कर रहे हैं कोचिंग सेंटर

नरकटियागंज से अमित कुमार वर्णवाल की रिपोर्ट

नरकटियागंज समाजसेवी राजू जेन्टलमैन ने नरकटियागंज में कोरोना की बढती हुई स्थिति को देखकर जहां काफी खतरा बताया है जो काफी चिंताजनक है। वही शहर के कुछ शिक्षक कोचिंग/टयूशन पढ़ाकर कोरोना को आमंत्रण देने के इंतजार मे है। शिक्षकबंधु कोरोना ब्लास्ट कराकर ही मानेगें । राजू जेन्टलमैन ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण देश भर में शैक्षणिक संस्थान बंद होने के बावजूद भी नरकटियागंज में ब्लॉक रोड , पांडे टोला , कोडार मुहल्ला , श्रीवास्तव काँलोनी , शिवगंज , नहर वाली गली , टी.पी.वर्मा. काँलेज रोड नंदपुर खोडी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पंडई चौक , नुनिया टोला , पचरूखिया , धूमनगर , मेन बाजार आदि जगहों पर काफी संख्या में छात्रो को बैग , काँपी किताब लेकर आते जाते देखा जाता है। स्वार्थ के लोभ में ये समाज को नजरअंदाज करते हुए सरकारी नियमों का उल्लंघन करते हुए कोचिंग चलाया रहा है जो काफी घातक सिद्व हो सकता है। यहां तक कि सरकारी शिक्षकबंधु भी चला रहे है। मेरी संवेदना प्राईवेट शिक्षको के साथ है । लेकिन ये तरीका गलत है । इससे हम सभी को नुकसान है ।

सरकार से आग्रह है कि इनको आर्थिक सहायता दिया जाए और रूम किराया मांफ किया जाए । हम आग्रह करते है कि अनुमंडल प्रशासन संज्ञान लेते हुए इसपर पहल करे । घर घर जाकर एवं विभिन्न गांवों से बुलाकर पढ़ाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है। सरकार के गाइडलाइंस के अनुसार बच्चों और बुजुर्गों मे इसका काफी प्रभाव है। सरकार और स्थानीय प्रशासन से अनुरोध है कि इसपर अंकुश लगाया जाए और कोरोना ब्लास्ट से बचा जाएं अन्यथा स्थिति विकराल हो जाएगी

#news9times

Related Articles

x

COVID-19

India
Confirmed: 7,761,312Deaths: 117,306
Close